सभी अनुबंध समझौते होते हैं, लेकिन सभी समझौते अनुबंध नहीं होते हैं। यह वाक्य एक सामान्य सत्य है जो कि वास्तव में बहुत महत्वपूर्ण है। यह वाक्य प्रत्येक व्यवसाय, कंपनी या उद्योग के लिए लागू होता है।

अनुबंध एक वस्तु को नियमों और शर्तों के साथ बेचने या खरीदने का एक विवरण होता है। इसमें दो या दो से अधिक पक्षों के बीच एक समझौता होता है। इसमें निर्दिष्ट शर्तों, नियमों और समझौतों का पालन करना होता है। ट्रेड-ऑफ, फ़ीचर्स, पेमेंट और अन्य जरूरी शर्तों को भी शामिल किया जाता है। अनुबंध एक समझौता होता है जो वस्तुओं या सेवाओं के लिए स्कूल, बैंक, अस्पताल या दूसरी संस्थाओं के साथ किया जाता है।

दूसरी ओर समझौता एक समझौता होता है जो दो या दो से अधिक व्यक्तियों के बीच किए जाने वाले आपसी समझौतों का वर्णन करता है। इसमें निर्दिष्ट शर्तों, नियमों और समझौतों का पालन करना आवश्यक नहीं होता है। इस विवरण में स्पष्ट अनुबंध नहीं होते हैं। समझौता उत्पादों, सेवाओं या कार्यक्रमों के लिए बनाया जाता है जिसमें व्यक्तियों के बीच समझौता होता है।

इसलिए, एक अनुबंध सभी समझौतों में शामिल होता है, लेकिन समझौता सभी अनुबंधों में शामिल नहीं होता है। अनुबंध और समझौता दोनों व्यवसाय में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। अनुबंध दोनों पक्षों के लिए पूरा होना आवश्यक होता है जबकि समझौता दोनों पक्षों के बीच समझौता होता है।

अनुबंध और समझौता दोनों को ध्यान में रखते हुए आपको एक व्यवसाय में उनके उपयोग के बारे में जानना आवश्यक है। एक सफल व्यवसाय के लिए अनुबंध और समझौता दोनों के समय पर पूरे होने की आवश्यकता होती है।